आत्‍मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2020

आत्‍मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान ऑनलाइन 2020-21 आवेदन, पात्रता व शर्तें,पंजीयन फॉर्म [Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan In Hindi]

अभी हाल ही में हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना की शुरुआत की थी, अब योजना के अंतर्गत माननीय प्रधानमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश आज रोजगार अभियान योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से केंद्रीय सरकार एवं उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार कोरोना वायरस की वजह से हुए तालाबंदी के दौरान अन्य प्रदेशों से लौटे हुए कमासुत व्यक्तियों को दोबारा से रोजगार के अवसर प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से करीब 1.25 करोड़ लोगों को नए रोजगार के अवसर प्रदान करने का उद्देश्य है।यदि आप भी उत्तर प्रदेश राज्य के नागरिक हैं और भारत सरकार की इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो हमारे इस लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

Atma-Nirbhar-Rojgar-Yojana-UP

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान योजना क्या है

इस योजना को केंद्र सरकार की हाल ही में शुरू की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अभियान योजना के अंतर्गत माननीय मुख्यमंत्री जी के आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस योजना को 26 जून को प्रारंभ किया गया है। इस योजना को एक नया आयाम प्रदान करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी उत्तर प्रदेश के उत्तर प्रदेश के 6 जिलों के ग्रामीण व्यक्तियों से बातचीत भी करेंगे। उत्तर प्रदेश राज्य में 31 जिलों के करीब 30 लाख रोजगारी व्यक्ति अपने-अपने शहरों को वापस लौटे हैं इस आंकड़े में ऐसे 31 शहर मौजूद हैं, जिनमें कुल लगभग 25 लाख कमासुत व्यक्ति अपने घर को वापस लौटा है। ऐसे में इस योजना के माध्यम से ऐसे लोगों को दोबारा से रोजगार प्रदान किए जाने का प्रावधान है।


आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान आवेदन प्रक्रिया

अभी हम यदि उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर रोजगार अभियान योजना में आवेदन की प्रक्रिया के बारे में जाने तो, सरकार ने अभी आधिकारिक रूप से ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन स्वीकृति की जानकारी लोगों के साथ साझा नहीं की है। मगर जहां तक उम्मीद है, उत्तर प्रदेश सरकार इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन को स्वीकृति प्रदान करेगी। जैसे ही उत्तर प्रदेश सरकार इस योजना से संबंधित आवेदन की प्रक्रिया को सामाजिक करेगी वैसे ही आपको इस लेख के माध्यम से हम आपको अवश्य अपडेट करेंगे।


योजना के अंतर्गत विभागों की लिस्ट


भारत सरकार की यह बहुत ही विशाल योजना है और इस योजना को सफल एवं सुचारू रूप प्रदान करने के लिए अनेकों सरकारी क्षेत्र के विभागों को इस योजना के अंतर्गत सम्मिलित किया गया है। वे सभी विभाग इस प्रकार से वर्णित हैं।

  • ग्रामीण विकास विभाग
  • पंचायती राज विभाग
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग
  • खनन विभाग
  • पेयजल एवं स्वच्छता विभाग
  • पर्यावरण विभाग
  • रेलवे विभाग
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस विभाग
  • नई और नवीनीकरण ऊर्जा विभाग
  • देश की सीमाओं पर सड़कों का निर्माण करने वाला विभाग
  • टेलीकॉम सेक्टर वाला क्षेत्र विभाग
  • कृषि विभाग

उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर रोजगार अभियान योजना की रूपरेखा क्या है

ऋण वितरण –

1.11 लाख की नई इकाइयों वाले जरूरतमंद व्यक्तियों को लगभग 3226 करोड़ रुपए तक की ऋण राशि वितरित की जाएगी।

नियुक्ति पत्र –

क्षेत्र में लगभग 1.25 लाख कामगारों व्यक्तियों को निजी निर्माण कंपनियों से नियुक्ति पत्र उपलब्ध कराने पर जोर दिया जाएगा।

आत्म निर्भर भारत पैकेज –

लगभग 2.40 लाख नई इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत लगभग 5900 करोड रुपए तक का लोन वितरित करने का प्रावधान है।

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना –

इस योजना के अंतर्गत लगभग सभी कारीगर व्यक्तियों को ओडी-ओपी के अंतर्गत किट प्रदान करने का प्रावधान है।

संवाद कार्यक्रम –

लाभकारी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के 6 शहरों के ग्रामीणों से संवाद कार्यक्रम प्रधानमंत्री जी के माध्यम से किया जाएगा।

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की कुछ जरूरी शर्तें

  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना आवश्यक है।
    लाभार्थी व्यक्ति के पास उसका आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति को उसका निवास प्रमाण पत्र पुष्टि हेतु होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को प्रदान किया जाएगा।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति के अनुभवों और उसकी योग्यता के अनुसार कार्य प्रदान करेगा।

आत्म निर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार योजना की आवश्यकता क्यों है

कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रण में लाने के लिए संपूर्ण भारत वर्ष में तालाबंदी की प्रक्रिया को जारी किया गया था। ऐसी परिस्थिति में हजारों लाखों रोजगार व्यक्तियों का रोजगार खत्म हो चुका था। ऐसे में केंद्र सरकार इस योजना के माध्यम से 125 दिन तक ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य एवं बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करने का प्रयास कर रही है।ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य एवं बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करने के लिए इस योजना में करीब 50,000 करोड़ों रुपयों का निवेश किया गया है। आज के समय के इस आर्थिक मंदी के दृष्टिकोण से प्रदेश के नागरिकों के लिए आवश्यक और लाभकारी है।

भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार मिलकर योजना के जरिए प्रदेश के करीब 30 लाख से अधिक बेरोजगार व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करने का प्रयास कर रही है। उत्तर प्रदेश के सभी बेरोजगार एवं जिन भी व्यक्तियों का रोजगार खत्म हो चुका था, उनको इस योजना के माध्यम से दोबारा से रोजगार प्राप्त हो सकेंगे।

Other Links

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *