बिरसा हरित ग्राम योजना झारखण्ड 2020

बिरसा हरित ग्राम योजना झारखण्ड 2020-21 पात्रता, दस्तावेज़ पंजीयन (Birsa Harit Gram Yojana Jharkhand in Hindi) [Application Form, Eligibility, Documents]

इन दिनों देश में प्रवासी श्रमिकों का अपने – अपने राज्यों में आना – जाना लगा हुआ हैं. इसका मुख्य कारण है लॉकडाउन के कारण सब कुछ बंद होने की वजह से श्रमिकों का बेरोजगार हो जाना. इसके साथ ही देश की अर्थव्यवस्था भी डामाडोल हो गई हैं. ऐसे में झारखण्ड सरकार ऐसे ही प्रवासी लोगों के लिए 3 नई योजनाओं को लांच करते हुए उनके लिए रोजगार के अवसर लेकर आ रही हैं. ये योजनायें ग्रामीण क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को एक नई उड़ान देंगी. इन योजनाओं में से एक योजना का नाम है ‘बिरसा हरित ग्राम योजना’. इस योजना के तहत प्रवासी मजदूरों को क्या काम करना होगा और उन्हें इसका क्या लाभ मिलेगा यह सब जानकारी आप इस लेख के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं.

योजना का नामबिरसा हरित ग्राम योजना
राज्यझारखण्ड
लांच की तारीख4 मई, 2020
लांच की गईझारखण्ड मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी द्वारा
लाभार्थीझारखण्ड के प्रवासी मजदूर
संबंधित विभागग्रामीण विकास विभाग

बिरसा हरित ग्राम योजना की विशेषताएं

  • झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना का मुख्य उद्देश्य हैं संकट की घड़ी में बाहर से आने वाले मजदूरों को रोजगार प्रदान करना, और साथ ही पर्यावरण संरक्षण को प्रोत्साहित करना भी है.
  • झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं में से बिरसा हरित ग्राम योजना पर्यावरण संरक्षण से संबंधित हैं जिसका नाम राज्य के एक शहीद जवान के नाम पर रखा गया है.
  • इस योजना के तहत बड़े पैमाने पर फलदार पेड़ लगाने का रोजगार का अवसर लोगों को प्रदान किया जा रहा हैं. इसके लिए उन्हें बड़ा गढ्ढा कर उसमें पेड़ लगाने का कार्य करना होगा.
  • इस योजना के तहत राज्य सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले कम से कम 5 लाख परिवारों को 100 पेड़ प्रति परिवार के अनुसार पट्टा प्रदान करने का फैसला किया हैं.
  • इस पट्टे की जमीन सरकारी, व्यक्तिगत एवं सड़कों के किनारे वाली कोई भी हो सकती हैं. लेकिन इसका स्वामित्व सरकार के पास होगा.
  • पेड़ लगाने के लिए जो भी कार्य किया जाता हैं फिर चाहे वह उसके भूमि खोदने का कार्य हो, पेड़ के रखरखाव का कार्य हो या अन्य जो भी इससे संबंधित कार्य हो यह सब कुछ मनरेगा के तहत सम्पन्न होगा.
  • इस योजना में यह भी अनुमान लगाया जा रहा हैं कि लाभार्थी परिवार को सरकार की ओर से सालाना 50 हजार रूपये भी दिए जा सकते हैं.

बिरसा हरित ग्राम योजना में पात्रता मापदंड

(Birsa Harit Gram Yojana Jharkhand Eligibility Criteria)

झारखण्ड का निवासी :-

झारखण्ड सरकार की इस योजना का लाभ झारखण्ड के मूल रूप से निवासी व्यक्तियों को ही दिया जायेगा.

बेरोजगार मजदूर :-

 राज्य के ऐसे मजदूर जिनके पास रोजगार नहीं हैं उनके लिए ही सरकार ने यह योजना शुरू की है.

प्रवासी मजदूर :-

इस योजना में मुख्य रूप से ऐसे मजदूरों को लाभान्वित करने का लक्ष्य तय किया गया है जोकि झारखण्ड के प्रवासी मजदूर हैं, और किसी दूसरे राज्य से हालही में झारखण्ड वापस आये हैं और उनके पास रोजगार का कोई अवसर भी नहीं है.

बिरसा हरित ग्राम योजना में आवश्यक दस्तावेज

(Birsa Harit Gram Yojana Jharkhand Required Documents)

आवासीय योग्यता :-

 इस योजना के लाभार्थी के पास उनका आवासीय योग्यता का प्रमाण यानि मूल निवासी प्रमाण पत्र होना चाहिए.

पहचान पत्र :-

रोजगार प्राप्त करने वाले व्यक्ति की पहचान के लिए आवश्यक हैं कि वह अपने पहचान पत्र के रूप में अपना आधार कार्ड या मजदूर कार्ड या राशन कार्ड में से कोई भी दस्तावेज साथ में रखे.

प्रवासी मजदूर का प्रमाण :-

इस योजना का लाभ लेने वाले प्रवासी मजदूरों को उनका प्रवासी होने का प्रमाण देना होगा, इसके लिए जिस जगह वे काम करते थे उस जगह का संबंधित दस्तावेज प्रदर्शित कर सकते हैं.

बिरसा हरित ग्राम योजना में आवेदन कैसे करेंगे

(How to Apply for Birsa Harit Gram Yojana Jharkhand)

इस योजना का लाभ प्रदान करने के लिए झारखण्ड सरकार ने कोई भी आवेदन प्रक्रिया एवं गाइडलाइन अभी जारी नहीं की हैं. अतः इस योजना के बारे में जैसे – जैसे जानकारी राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी. इस लेख के अपडेट होने के साथ ही आपको मिल जाएगी. 

अतः झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की जा रही ये पहलें प्रवासी मजदूरों के लिए इस संकट की घड़ी में एक उम्मीद की किरण बन कर आ रही है. इससे उनके साथ – साथ ग्रामीण क्षेत्र का भी विकास हो सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *