मध्यमवर्गीय परिवार के लिए केंदीय सरकार शुरू करेगी स्वास्थ्य बीमा योजना

मध्यमवर्गीय परिवार के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना [Health System Insurance Scheme for New India in Hindi]

हमारे देश में किसी भी तरह की हेल्थ केयर जो कि मध्यम परिवारों को लाभ दे सके ऐसी सुविधा नहीं है. इसलिए नरेंद्र मोदी सरकार इस दिशा में प्रयासरत है. पिछले  साल 2018 में नरेंद्र मोदी सरकार  ने आयुष्मान भारत योजना को शुरू किया था. इस योजना के अंतर्गत देश के कई लोगों को बहुत अधिक लाभ प्राप्त हुआ.

Health-Insurance-Scheme-Middle-Class-hindi

इस योजना के अंतर्गत जनगणना 2011 के मुताबिक गरीब परिवारों को 500000 रूपये सालाना तौर पर उनके इलाज के लिए सरकार द्वारा खर्च किए जाने थे. इस योजना के अंतर्गत कई तरह के परिवारों को विशेष लाभ प्राप्त हुए.

परंतु देश में इस तरह की योजना मध्यम परिवार के लिए नहीं है.  गंभीर बीमारी के इलाज के लिए बहुत अधिक पैसा लगता है जिसका वहन कर पाना मध्यम परिवार के लिए भी बहुत कठिन है, इसलिए देश की सरकार मध्यम परिवार के लिए  एक हेल्थ केयर स्कीम’ जिसका नाम हेल्थ सिस्टम फॉर न्यू इंडिया रखा जा सकता है, को लांच करने का विचार कर रही है.

भारत की आधी जनसंख्या मध्यम परिवारों में बसती है. अतः यह बहुत जरूरी है कि इन परिवारों को सरकार की तरफ से सुविधा प्राप्त हो, इन परिवारों के लिए सबसे अहम मुश्किल उस समय आती है, जब परिवार का कोई सदस्य किसी बड़ी बीमारी से गुजर रहा हो, क्योंकि बड़ी बीमारी ही है जो कि बहुत खर्चा करवाती हैं.  अगर इस तरह की परेशानियों में सरकार मध्यम परिवारों की कुछ मदद करती है तो इन परिवारों को जीवनव्यापन में काफी मदद मिल सकती है.

 सरकार ने अपने आंकड़ों के हिसाब से बताया है कि 40% जनता  को आयुष्मान भारत के अंतर्गत लाभ प्राप्त हो रहा है, जिसके तहत 1.5 लाख हेल्थ केयर एंड वैलनेस सेंटर कार्य कर रहे हैं और इस दिशा में 2022 तक कई सेंटर और कार्य करने लगेंगे. यह सेंटर मुख्यतः बहुत सी बीमारियों का इलाज करते हैं जिनमें ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कैंसर और बुढ़ापे में लगने वाली बीमारियां शामिल है. नीति आयोग के हेल्थ एडवाइजर आलोक कुमार ने यह बताया कि सरकार एक रोडमैप तैयार कर रही है जिसके जरिए मध्यम परिवार के लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधा प्रदान की जाएगी.

इस योजना के बारे में रिपोर्ट दुनिया के सबसे अमीर आदमी बिल गेट्स के सामने अनाउंस की गई.  बिल गेट्स जो कि बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के को फाउंडर हैं, उन्होंने भी अपने उद्बोधन में स्पष्ट किया कि भारत एक ऐसा देश है जिसमें यंग जनरेशन बहुत अधिक मात्रा में है.  अगर उनके स्वास्थ्य की तरफ विशेष ध्यान दिया जाएगा तो भारत बहुत तेजी से आगे बढ़ेगा.  इसके लिए जरूरी है कि यंग जनरेशन के लिए हेल्थ केयर, एजुकेशन और न्यूट्रीशन इन्वेस्टमेंट किए जाएं. इसी कार्यक्रम में भारतीय पोषण कृषि कोष योजना का भी विमोचन किया गया जिसमें देश को कुपोषण से बचाने का उद्देश्य पूरा किया जाएगा.

Other links –

2 thoughts on “मध्यमवर्गीय परिवार के लिए केंदीय सरकार शुरू करेगी स्वास्थ्य बीमा योजना”

Leave a Comment