मध्यप्रदेश के सरकारी कर्मचारियों व रिटायरों के लिए नयी स्वास्थ्य सेवा योजना – 10 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा

मध्यप्रदेश के सरकारी कर्मचारियों व रिटायरों के लिए नयी स्वास्थ्य सेवा योजना – 10 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य संबंधी एक नई योजना शुरू की जा रही है. जिसके मुख्य लाभार्थी वे लोग होंगे जो सरकारी कार्यालयों में कार्य कर रहे हैं एवं  जिन्होंने सरकारी नौकरी से रिटायरमेंट लिया हो. यह योजना 2020 में लागू की जाएगी. इस योजना का मुख्य उद्देश्य सरकारी कर्मचारी एवं सेवानिवृत लोगों को कैशलेस स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना है.

health-insurance-scheme-serving-retired-govt-employees mp

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने यह निर्देश दिए हैं कि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी कर्मचारी एवं रिटायर हुए कर्मचारियों को 1000000 रुपये तक का कैशलेस  स्वास्थ्य सुविधा सरकार द्वारा दी जाएगी. इस योजना के बारे में प्रशासन मंत्री गोविंद सिंह ने पत्रकारों को बताया.

अभी देशभर में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना चलाई जा रही है जिसके अंतर्गत केंद्र सरकार गरीब लोगों को 1000000 रुपये तक का केशलेस स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करा रही है. यह एक बहुत ही उत्तम योजना है. उसी तर्ज पर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आज सरकारी कर्मचारी एवं रिटायर कर्मचारियों को भी स्वास्थ्य सुविधा सरकार द्वारा दी जाएगी. इस योजना के अंतर्गत सामान्य बीमारियों के लिए 500000 रुपये  तक की सुविधा एवं गंभीर बीमारियों के लिए 1000000 रुपये तक की सुविधा का ऐलान सरकार द्वारा किया गया है. मंत्री गोविंद सिंह के अनुसार प्रदेश में लगभग 700000 कार्यरत कर्मचारी एवं 500000 सेवानिवृत्त कर्मचारी मौजूद है जो कि इस योजना के अंतर्गत लाभ उठा सकेंगे यहां प्रदेश की अब तक की सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य बीमा योजना कह लाएगी.

इस योजना के अंतर्गत किन अस्पतालों को शामिल किया जाएगा, जल्द ही इसकी लिस्ट जारी करके जनता तक पहुंचा दी जाएगी. अभी इस दिशा में कार्य नहीं किया गया है, ना ही सरकार द्वारा कोई सूचना दी गई है. साथ ही सरकार ने अभी योजना के पंजीयन के बारे में भी पूरी जानकारी नहीं दी हैं.

इस योजना के अंतर्गत अन्य लाभ भी दिये जायेंगे –

  1. बीमारी के ओपीडी के लिए भी सरकार द्वारा 10 हजार रुपये तक देने का प्रस्ताव दिया गया हैं.
  2. इस योजना के अंतर्गत बीमारियों में लगने वाली दवाएं भी मुहैया करवाई जा सकती हैं.
  3. बीपी एवं शुगर पेशेंट को भी इस योजना के अंतर्गत लाभ मिलेगा

योजना के अंतर्गत लगने वाला प्रीमियम 250 से 1000 तक का होगा जो कि बहुत ही कम हैं जिसे कर्मचारी के वेतन से काटा जायेगा. और इस प्रीमियम का निर्धारण कर्मचारी की सैलरी एवं सेवानिवृत्त कर्मचारी के पे बैंड को ध्यान में रख कर किया जायेगा.

यह मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुविधा मानी जा रही हैं जिसका लाभ सरकारी लोगों को मिलेगा.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *