यूपी स्कूलों को आकर्षित बनाएगी कलाकल्प योजना

उत्तरप्रदेश कायाकल्प योजना 2020 (Uttar Pradesh Kayakalp Yojana in Hindi)

हमारे देश में शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही हैं, ताकि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रह जायें. इसी बुनियादी शिक्षा को बेहतर बनाने के संकल्प को पूरा करने के लिए उत्तरप्रदेश राज्य सरकार एक योजना की शुरू करने जा रही हैं जिसका नाम है ‘उत्तरप्रदेश कायाकल्प योजना’. इस योजना के तहत राज्य के सभी सरकारी स्कूलों को बुनियादी एवं बेहतर सुविधाओं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के रूप में नया चेहरा प्रदान किया जायेगा, जिसमें मुख्य रूप से आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चे प्रवेश करते हैं.

Kayakalp Yojana UP

इस मिशन के तहत सरकार गरीब एवं अमीर के बीच के अंतर को खत्म करना चाहती है, साथ ही यह सुनिश्चित करना चाहती है कि समाज के हर तबके के लोग चाहे वे कोई भी हो सभी को शिक्षा का समान अवसर प्राप्त हो.   

दरअसल उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार का यह कहना है कि – ‘पिछले कुछ दशकों में यूपी के सरकारी स्कूल अधिकतर समाज के गरीब, किसान और कमजोर वर्ग के लोगों के लिए शिक्षा का केंद्र बने हुए हैं. ये ऐसे लोग हैं जो अपने बच्चों को निजी स्कूलों में दाखिला दिलाने में असमर्थ होते हैं. लेकिन उन्हें वे सभी सुविधाएँ प्राप्त नहीं होती हैं जोकि उन्हें एक निजी स्कूल में प्राप्त हो सकती हैं. इसलिए हमारी सरकार इस योजना के मध्यम से सरकारी स्कूलों को निजी स्कूलों की तरह नया रूप प्रदान कर उसका विकास करना चाहती हैं’.

इस योजना को लागू करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया था जिसमें मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ के साथ ही विभिन्न अधिकारी जैसे खंड विकास अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी व एडीओ पंचायत आदि शामिल थे. इसमें उन्हें सरकारी स्कूलों का किस तरह से कायाकल्प किया जाना हैं इसके बारे में जानकारी दी गई.

इसके लिए सबसे पहले उन्हें यह बताया गया कि इन स्कूलों में काम करने वाले ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम प्रधान या स्कूल के प्रधानाचार्य को एक मॉडल तैयार करना होगा जिसमें निम्न सभी चीजों पर ध्यान देना आवश्यक होगा –

  • ब्लैक बोर्ड,
  • छात्र एवं छात्राओं के लिए अलग – अलग शौचालय,
  • साफ पीने का पानी,
  • हाथों को साफ करने की सुविधा,
  • बिजली व्यवस्था,
  • किचन शेड,
  • कक्षाओं में पेंट, फर्नीचर, फर्श, खिड़की – दरवाजे आदि की मरम्मत
  • स्कूल के बाहर गेट का निर्माण,
  • एवं इंटरलॉकिंग सड़क आदि.

इन स्कूलों के निर्माण कायाकल्प के आलावा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए बेहतर शिक्षकों की भी नियुक्ति की जा सकती है.

जल्द ही इस योजना के मध्यम से राज्य के सरकारी स्कूलों में मिशन कायाकल्प शुरू हो जायेगा. और लोग आसानी से अपने बच्चों को यहाँ शिक्षा दिलवा सकेंगे.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *