मातृ वंदना सप्ताह – प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत शुरू हुआ पंजीयन

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत शुरू हुआ – “मातृ वंदना सप्ताह”  (Matru Vandana Saptah Week Starts)

मणिपुर के मुख्यमंत्री विरेन सिंह ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के प्रमोशन के लिए मातृ वंदना सप्ताह कार्यक्रम शुरू किया है, यह योजना गर्भवती महिलाओं के लिए सन 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। यह एक मेटरनिटी स्कीम है जिसके तहत गर्भवती महिलाओं की देखभाल की जाती है और उन्हें 6000 रुपये विभिन्न चरणों में दिए जाते हैं.

matru vandana saptah in hindi

मुख्यमंत्री वीरेंद्र सिंह का यह कहना है कि अब तक 1.2 करोड़ गर्भवती महिलाओं को इस योजना का लाभ मिल चुका है, परंतु अभी तक कई महिलाओं को इस योजना के बारे में जानकारी नहीं है इसीलिए जरूरी है कि इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाये और महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाए.

मातृ वंदना योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि गर्भ धारण करने से लेकर प्रसव तक महिलाओं की उचित देखभाल की जा सके और घर में होने वाली प्रसव प्रक्रिया को नियंत्रण किया जा सके, क्योंकि इससे कई  बार नवजात शिशुओं की मृत्यु हो जाती है और माताओं की सेहत पर भी खराब असर होता है इसलिए इस दिशा में महिलाओं एवं परिवार को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना शुरू की गई, जिसके तहत प्रधानमंत्री द्वारा महिलाओं को 6000 रुपये दिए जाते हैं और उन्हें समय-समय पर टीकाकरण की जानकारी भी उपलब्ध कराई जाती है।

फिलहाल सरकार द्वारा इस योजना के लिए मातृ वंदना योजना सप्ताह शुरू किया गया है जिसके अंतर्गत 7 दिनों में महिलाओं को इस योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाएगी. इसके साथ ही सरकार ने यह भी निर्देश दिए हैं कि इस योजना के अंतर्गत व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाए ताकि इस योजना के इंप्लीमेंटेशन की संपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सके.

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत चरणों में 3 फॉर्म भरे जाते हैं, इस तरह प्रथम चरण में 1000 रुपये द्वितीय चरण में 2000 रुपये एवं तृतीय चरण में 2000 रुपये  सरकार द्वारा दिये जाते हैं और बचे हुए 1000 रुपये उस समय दिए जाते हैं, जब गर्भवती महिला अपने बच्चे को अस्पताल में जन्म देती है क्योंकि इस योजना का उद्देश्य महिलाओं की देखभाल के साथ यह भी है कि प्रसव जैसी  बड़ी प्रक्रिया घरों में ना करते हुए अस्पतालों में कराई जाए इसलिए सरकार ने इस चरण के लिए 1000 रुपये देने का निर्णय लिया था जो की जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत शामिल हैं.

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरुवात 2017 में हुई थी और अब तक कई महिलाओं को इसका लाभ मिला हैं परंतु अभी भी इसका लाभ सभी तक नहीं पहुंचा हैं इसलिए यह अभियान बहुत जरूरी हैं.

Other links –

Leave a Comment