मेधावी छात्र पुरस्कार योजना उत्तरप्रदेश 2019-20 (फॉर्म)

मेधावी छात्र पुरस्कार योजना उत्तरप्रदेश 2019-20 (आवेदन फॉर्म, प्रोत्साहन राशि) (Medhavi Chatra Puraskar Yojana Uttar Pradesh in Hindi), [Offilne Application Form, Reward Amount, Eligibility Criteria, Required Documents]

 आज के समय में शिक्षा कितनी अधिक महत्वपूर्ण है इस बात का अंदाजा आप भारत देश के और शिक्षित शिक्षित लोगों की सोच और समझ से ही लगा सकते हैं। एक शिक्षित व्यक्ति हमेशा ही अपने और खुद से जुड़े से जुड़े लोगों को विकास की ओर ले जाने में अग्रसर होते हैं। परंतु भारत देश की जनता में अधिकतम लोग श्रमिक हैं। जो मजदूरी करके अपना वेतन कमाते हैं जिसमें वे अपने लिए पेट भरने का साधन ही जुटा पाते हैं। ऐसे में वे अपने बच्चों को उचित शिक्षा दिला पाने में असमर्थ रहते हैं। कुछ ऐसे ही लोगों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने उनके बच्चों को शिक्षा के स्तर पर सशक्त बनाने के लिए पहल की है। यह एक ऐसी योजना है जिसके जरिए गरीब व शिक्षित बच्चों को उचित शिक्षित बच्चों को उचित शिक्षित बच्चों को उचित शिक्षा दिलाने में पूरा योगदान उत्तर प्रदेश सरकार निभाती है। आइए जान लेते हैं इस योजना के बारे में विस्तार से….

क्र. म. योजना की जानकारी बिंदु योजना की जानकारी
1. योजना का नाम उत्तरप्रदेश मेधावी छात्र पुरस्कार योजना
2. योजना का लांच फरवरी सन 2009 में
3. योजना की शुरुआत यूपी के श्रम विभाग द्वारा
4. योजना में स्पोंसर्ड केंद्र एवं राज्य सरकार
5. योजना के लाभार्थी श्रमिकों के बच्चे

उत्तर प्रदेश छात्र पुरस्कार मेधावी योजना की विशेषताएँ (Medhavi Chatra Puraskar Yojana in UP Highlights)

  • श्रमिकों के बच्चों को सहायता:- इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार उन बच्चों को इस योजना का लाभ प्रदान करती है जिनके माता-पिता श्रमिक विभाग में रजिस्टर्ड है।
  • मेधावी छात्रों को प्रोत्साहन:- उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना के तहत उन छात्रों को आर्थिक रूप से प्रोत्साहन दिया जाता है जो शिक्षा के स्तर में अपना बेहतर करते हैं। वे शिक्षा में बेहद अच्छे होते हैं परंतु अपनी आर्थिक स्थिति के कारण आगे पढ़ने में सक्षम नहीं हो पाते हैं।
  • शिक्षा के प्रति जागरूकता:– उत्तर प्रदेश सरकार की यह योजना उन सभी माता-पिताओं को शिक्षा की ओर जागरुक करते हैं जो अपने बच्चों को शिक्षा से दूर रखने के प्रयास में है। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के अधिकतम माता-पिता प्रोत्साहित होकर अपने बच्चों को शिक्षा की ओर अग्रसर कर रहे हैं।
  • वित्तीय सहायता:- इस योजना के तहत आर्थिक रूप से पिछड़े हुए बच्चों को शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

उत्तरप्रदेश मेधावी छात्र पुरस्कार योजना में दी जाने वाली छात्रवृत्ति (Medhavi Chatra Puraskar Yojana in Uttar Pradesh Scholarship Amount)

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य के पिछड़े हुए श्रमिक मजदूरों के बच्चों को उनके शैक्षिक स्तर के अनुसार छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। जिसमें लड़के और लड़कियों को निर्धारित अंक की प्राप्ति के बाद ही उन्हें छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। छात्रवृत्ति के विषय में संपूर्ण जानकारी नीचे तालिका में दी गई है।

क्र.म. कक्षा प्राप्त अंक (प्रतिशत में) लड़के को मिलेंगें लड़की को मिलेंगें
1. 5 वीं से 7 वीं 70 % अंक 4000 रूपये 4500 रूपये
2. 8 वीं 70 % अंक 5000 रूपये 5500 रूपये
3. 9 वीं एवं 10 वीं 60 % अंक 5000 रूपये 5500 रूपये
4. 11 वीं एवं 12 वीं 60 % अंक 8000 रूपये 10,000 रूपये
5. बीए, बीकॉम, बीएससी, मेडिकल, इंजीनियरिंग एवं पॉलिटेक्निक डिप्लोमा 60 % अंक 10,000 से 22,000 रूपये तक 10,000 से 22,000 रूपये तक

 

उत्तरप्रदेश मेधावी छात्र पुरस्कार योजना में पात्रता मापदंड (Medhavi Chatra Puraskar Yojana in Uttar Pradesh Eligibility Criteria)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के लाभार्थी बनने के लिए कुछ पात्रता निर्धारित की गई है। उसके अनुसार ही उत्तर प्रदेश के नागरिकों को इस योजना का पूरा लाभ प्राप्त हो सकता है। आइए जान लेते हैं इस योजना के लाभार्थी बनने के लिए किन पात्रताओं का होना जरूरी है।

  1. उत्तर प्रदेश के निवासी:- इस योजना का लाभार्थी बनने के लिए सबसे पहली शर्त यही है कि वह श्रमिक उत्तर प्रदेश का निवासी होना अनिवार्य है। उत्तर प्रदेश के बाहर रहने वाले किसी भी श्रमिक को इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त हो सकता है।
  2. सरकार के अन्य योजनाओं का लाभार्थी:– यदि कोई उत्तर प्रदेश का निवासी सरकार की किसी अन्य योजना का लाभार्थी पहले से ही है। ऐसा कोई भी व्यक्ति सरकार की इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं कर सकता है।
  • श्रमिक परिवार के बच्चे:- इस योजना का मुख्य लाभ केवल श्रमिक परिवार के बच्चों को ही प्राप्त हो सकता है। आर्थिक रूप से पीड़ित श्रमिक परिवार के बच्चे इस योजना के तहत शैक्षिक रूप से प्रोत्साहित होते हैं इसलिए सरकार द्वारा यह योजना मुख्य रूप से उन्हीं बच्चों के बच्चों के लिए चलाई गई है।

उत्तरप्रदेश मेधावी छात्र पुरस्कार योजना में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Medhavi Chatra Puraskar Yojana in Uttar Pradesh documents)

  1. आवासीय प्रमाण पत्र:- यदि कोई व्यक्ति इस योजना के तहत लाभार्थी बनना चाहता है तो उसे अपना उत्तर प्रदेश का आवासीय प्रमाण पत्र दिखाना होगा। यह सुनिश्चित करने के बाद कि वह उत्तर प्रदेश प्रदेश का ही निवासी है वह इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकता है।
  2. श्रमिक कार्ड:– मुख्य रूप से यह योजना श्रमिकों के लिए चलाई जा रही है इसलिए यह अति आवश्यक है की लाभ प्राप्त करने वाले व्यक्ति के पास रजिस्टर्ड वाले व्यक्ति के पास रजिस्टर्ड व्यक्ति के पास रजिस्टर्ड श्रमिक कार्ड होना आवश्यक है।
  3. रिपोर्ट कार्ड:- यह योजना छात्र की कक्षा और उनके अंक के आधार पर निर्धारित की जाती है। कौन सा विद्यार्थी इस योजना का विद्यार्थी इस योजना का लाभार्थी बन सकता है इसका निर्धारण करने के लिए आवेदन करते समय उनके पास उनकी वर्तमान रिपोर्ट कार्ड होनी बेहद आवश्यक है।
  4. फोटो:- आवेदन करते समय छात्र के विद्यालय अथवा कॉलेज के प्रिंसिपल द्वारा अटेस्टेड फोटो दस्तावेज़ के साथ जमा करानी होती है।
  5. एफिडेविट:- इस योजना के तहत यह अति आवश्यक है कि आपको एक ऐसा एफिडेविट जमा कराना होता है जिसमें यह सबूत होता है कि आपने सरकार द्वारा प्रचलित किसी और अन्य योजना का लाभ पहले या फिर वर्तमान में प्राप्त नहीं किया है।
  6. फ़ीस जमा होने की रसीद:– आवेदन करते समय अपने साथ उस कॉलेज या स्कूल की रसीद भी रखें जिसमें फीस जमा करने का पूरा ब्यौरा दिया गया हो। ताकि इस योजना के तहत आपको उस फ़ीस की पूरी राशि प्राप्त हो सके।

उत्तरप्रदेश मेधावी छात्र पुरस्कार योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया (Medhavi Chatra Puraskar Yojana in Uttar Pradesh Application form process)

अब हम आपको इस योजना के तहत आवेदन के दौरान अपनाई जाने वाली पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे।

  • सबसे पहले आपको आवेदन के लिए आवेदन फॉर्म की आवश्यकता होगी। जिसके लिए आप जिला श्रम विभाग के कार्यालय, तहसील के तहसीलदार कार्यालय या ब्लॉक के ब्लॉक कार्यालय में जा सकते हैं। यदि आप यह आवेदन भरना चाहते हैं तो आपको अपनी परीक्षा देने के 3 महीने तक का इंतजार करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म भरने के बाद अपने स्कूल या कॉलेज के प्रधानाचार्य से अटेस्टेड जरूर करवा लें। इस योजना के तहत आप कक्षा की परीक्षा पास करने के 1 साल बाद तक इस आवेदन को भर सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के लिए आवेदन तिथि निर्धारित की गई है जो 1 जुलाई से 30 दिसंबर तक है।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद ऊपर दी गई सभी जानकारियों के साथ उसे भर दें। सभी दस्तावेजों को उचित पूर्वक उस आवेदन फॉर्म के साथ अटैच कर दें।
  • यदि विद्यार्थी पांचवी से आठवीं कक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद इस आवेदन का लाभार्थी बनना चाहता है तो उसके लिए यह आवश्यक है कि वह अपने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के पास जाकर उन से स्वीकृति पत्र प्राप्त करें। यह स्वीकृति पत्र आपको आवेदन पत्र के साथ अटैच करके जमा करना होगा।
  • यदि आप अपने आवेदन पत्र में सभी जानकारियां सही तरीके से भरने में कामयाब रहे हैं तो आपको यह आवेदन पत्र उसी कार्यालय में जमा कराना होगा जहां से आपने इस आवेदन पत्र को प्राप्त किया है।
  • आवेदन पत्र जमा कराने के बाद आपके आवेदन पत्र की पूर्ण तहत जांच संबंधित कार्यालयों द्वारा की जाती है। यदि आपका आवेदन पत्र सभी परीक्षणों पर खरा उतरता है तो आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यदि यह किसी भी कारण से और स्वीकृत किया जाता है तो इस बात की जानकारी आपको दे दी जाती है।
  • यदि आवेदन भरने वाले व्यक्ति का आवेदन पूरी तरह से स्वीकार कर लिया जाता है। तो उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत स्वत ही माता पिता पिता के बैंक खाते में उनके बच्चे की शिक्षा हेतु धनराशि जमा कर दी जाती है।

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार की पूरी यही कोशिश रही है कि वह मजदूर व श्रमिक वर्ग के वित्तीय रूप से पीड़ित व्यक्तियों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान करने और उनके विकास में पूरा सहयोग दे। इस योजना के तहत अधिकतम लाभार्थियों ने लाभ प्राप्त करके अपने बच्चों के जीवन को बेहतर बनाने में योगदान दिया है। आने वाले समय में इस योजना से और छात्र जुड़कर अपने भविष्य को एक सुनहरा अवसर प्रदान करेंगे।

Other links –

Leave a Comment