मुख्यमंत्री गौ सेवा योजना मध्य प्रदेश

मुख्यमंत्री गौ सेवा योजना मध्य प्रदेश (Mukhyamantri Gau Seva Yojana MP in hindi)

मध्य प्रदेश में नई सरकार के बनते ही कई तरह की नई योजनाओं का विमोचन किया जा रहा है, इन योजनाओं में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक और योजना का ऐलान किया जिसका नाम है मुख्यमंत्री गौ सेवा योजना.

 गौ सेवा योजना के अंतर्गत निम्न मुख्य बिंदुओं पर चर्चा की गई

  1. चर्चा में यह तय किया गया कि अगले वर्ष अर्थात 2020 तक सरकार द्वारा प्रदेश में 3000 गौशाला में बनाई जाएंगी, इस दिशा में सरकार को बजट एवं गौशाला निर्माण के लिए भूमि मुहैया करवाना है जिसकी प्रक्रिया 2019 के अंत तक पूरी कर दी जाएगी.
  2. मवेशियों के कारण प्रदेश की जनता को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसीलिए निराक्षित गायों के लिए गौशाला का निर्माण किया जा रहा है जिससे आम आदमी के जीवन में होने वाली समस्याओं को कम किया जा सकेगा साथ ही गायों की उचित देखभाल हो सकेगी.
  3. मुख्यमंत्री ने यह स्पष्ट तौर पर कहा है कि इस योजना को तेजी से पूरा किया जाएगा और समय-समय पर इस योजना के लिए बैठक भी की जाएगी ताकि आगे बढ़ते हुए कार्य पर निगरानी रखी जा सके और कहा गया कार्य समय पर पूरा हो सके.
  4. मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा कि इस कार्य को बिना किसी रूकावट के संपन्न करने के लिए ग्रामीण विकास और पशु पालन विभाग के लोगों के बीच सामंजस होना बहुत जरूरी है

mukhyamantri gau seva yojana mp 

गौ संरक्षण के साथ-साथ इस योजना के अंतर्गत कई अन्य तरह के नियम भी बनाए गए हैं जो इस प्रकार हैं

  1. भारत देश में गौ सेवा को धार्मिक रूप से देखा जाता है इसीलिए गौ संरक्षण के लिए सरकार ने आम आदमी का भी आह्वान किया है. जिसके लिए सरकार ने ऑनलाइन डोनेशन पोर्टल शुरू किया है जिसके अंतर्गत आम आदमी सरकार को गौ संरक्षण के लिए मनचाहा डोनेशन भी दे सकता है, इसके बदले में सरकार उन लोगों को 80C आयकर के अंतर्गत छूट भी देगी.
  2. साथ ही भारत देश में गोदान को भी बहुत महत्वपूर्ण बताया गया है इस योजना के जरिए देश के व्यक्ति गो दान भी कर सकते हैं.
  3. योजना के अंतर्गत जो दान किया जाएगा उसका मुख्य रूप से चारे, शेड एवं पानी जैसे कार्यो में इस्तेमाल किया जाएगा

पहले भी प्रदेश में इस तरह की योजना चलाई जा रही थी जो कि शिवराज सरकार के अंतर्गत शामिल थी, परंतु अभी उस योजना में कुछ मुख्य बिंदुओं में परिवर्तन कर उस योजना को पुनः दूसरे नाम से शुरू किया जा रहा है.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *