प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना 2020

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना 2020 (PM Krishi Udan Yojana)

भारत सरकार ने हाल ही में साल 2020 का केंद्रीय बजट की घोषणा की है। साल 2020 के बजट में भारत सरकार बहुत सारी कई नई-नई योजनाएं और अवसर लेकर आई है। ऐसे में हमारे वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने भारत के वर्ष 2020 के केंद्रीय बजट की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना की घोषणा की है। भारतीय किसानों के हितों और आर्थिक स्थिति को देखते हुए इस प्रकार की योजनाएं आना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है क्योंकि भारत में आज भी कई ऐसे पिछड़े हुए और आदिवासी इलाके हैं जहां के किसान बहुत ही ज्यादा तंगी और उच्च वसूली के कारण परेशान हैं। तो चलिए अब हम आपको बताते हैं प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना 2020 के बारे में पूरी जानकारी –

PM Krishi Udan Yojana

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना क्या है?

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के शुरू की गई. वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट स्कीम के तहत इस नई प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना को घोषित किया है। कृषि उड़ान योजना भारत के सभी वर्गीय किसानों के हित के लिए लागू की गई है जिसमें सरकार का केवल एक ही लक्ष्य है कि साल 2022 तक भारतीय किसानों की आमदनी को बढ़ाया जाए और पहले से दोगुना किया जाए। इसी के साथ-साथ भारतीय किसानों को उनके उत्पादों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिए परिवहन में हाथ बताएगी और उनके उत्पाद को भी सही कीमत देगी।

प्रधानमंत्री कृषि उडान योजना के फायदे:-

अगर देखा जाए तो भारतीय किसान बहुत ही ज्यादा कठिनाइयों से गुजर रहा है लेकिन बीते गत वर्षों से उनकी स्थिति में काफी सुधार आया है। इसी सुधार को और बेहतर बनाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस नई प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना की घोषणा की गई हैं और इसी के साथ-साथ वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट स्कीम की भी घोषणा की है। जिससे कि किसानों को उनकी मेहनत की कमाई पूरी मिले और उनकी वास्तविकता भी बनी रहे।

वर्ष 2016 में उड़ान (UDAN) योजना को लांच किया गया और इसी योजना के तहत और इसी के सभी नियमों का पालन करते हुए भारतीय कृषि उड़ान योजना भी कार्य करेगी। भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य जहां पर आज भी कुछ ऐसे आदिवासी जिले हैं जहां पर किसानों की आए बहुत ज्यादा कम है और ऐसे में उनकी स्थिति को और बेहतर बनाने के लिए भारत सरकार इन नई योजनाओं को अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित करेगा।

विमानन मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना :-

जिस प्रकार वर्ष 2016 में उड़ान योजना सभी राज्यों को आपस में जोड़ने के लिए शुरू की गई थी ठीक उसी प्रकार कृषि उड़ान योजना भी है। अब किसानों को केवल राज्य स्तर पर नहीं बल्कि उन्हें केंद्र के द्वारा और राज्य सरकार दोनों के द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इसी के साथ साथ कुछ चुने हुए हवाई अड्डों को प्रतिष्ठा पूर्वक संचालन के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा और साथ ही साथ हवाई किराए को बहुत ही कम कीमत में रखा जाएगा ताकि यातायात में और परिवहन में सुधार लाया जा सके। इस योजना का मुख्य लक्ष्य यही है कि सरकार के द्वारा ईयर लाइनों को प्रोत्साहित किया जाएगा जिससे देश के अलग-अलग हिस्सों में कृषि उत्पादों के परिवहन के लिए आसानी होगी।

प्रधानमंत्री कृषि उड़ान योजना किस प्रकार कार्य करेगी?

अभी तक किसान जिन्हें सब्सिडी के आधार पर राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा आर्थिक मदद उड़ान योजना के तहत दी जाती थी। इसी उड़ान योजना के साथ ही साथ कृषि उड़ान योजना एक बहुत ही बड़ा भारत सरकार के द्वारा उठाया गया कदम है जिसमें सब्सिडी और बिना सब्सिडी वाले दोनों किसानों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर अग्रिम श्रेणी की छूट प्रदान की जाएगी। किसी के साथ फंडिंग और वितरण के लिए भी आवश्यक मदद दी जाएगी।

प्रधानमंत्री वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना क्या है?

प्रधानमंत्री द्वारा इस वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना के तहत हमारे केंद्र शासित प्रदेश कश्मीर और उसके पड़ोसी राज्य उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश लद्दाख अंडमान और निकोबार जैसों में बागवानी क्षेत्रों को गति देने के लिए जिला स्तर पर ध्यान दिया जाएगा। इसी के साथ साथ वहां के सभी किसानों को जितने भी पुराने कर्जे और ऋण होंगे उनसे मुक्ति मिलेगी और साथ ही साथ 20 से अधिक सीटों वाले विमानों के लिए उड़ान वीजीएफ को 4.0 में तब्दील करेगा।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *