PM Modi Poshan Abhiyan

पीएम मोदी पोषण अभियान 2020 (PM Modi Poshan Abhiyan in hindi)

पीएम मोदी ने भारत देश को कुपोषण जैसी घातक बीमारी से मुक्त कराने के लिए ‘पोषण अभियान’ की शुरुआत कर दी है. इस अभियान के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट poshanabhiyan.gov.in पर ऑनलाइन एक्टिविटीज और थीम लिस्ट को जारी कर दिया गया है. पीएम मोदी ने हमारे देश को 2022 तक कुपोषण मुक्त करने के लिए यह पहल शुरू की है. इस योजना को पीएम मोदी ने सभी राज्यों , जिलों और शहरों को लाभ प्रदान करने के लिए शामिल किया है.

poshan abhiyan

इस योजना के माध्यम से सरकार आंगनवाड़ी सेवाओं के उपयोग में सुधार करके कुपोषण से भारत को मुक्त करना चाहता है. इस योजना से आंगनवाड़ी वितरण की गुणवत्ता में सुधार आएगा. इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं माताओं और बच्चों के लिए समग्र विकास और पर्याप्त पोषण को सुनिश्चित करके लाभ प्रदान करना है. इस योजना के अंतर्गत महिला और बाल विकास मंत्रालय ने पहले वर्ष, 315 जिलों में पोषण अभियान लागू करेगा और दूसरे वर्ष में 235 और तीसरे वर्ष में बाकी के बचे जिले को इस योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा.

भारत देश में कुपोषण से पीड़ित बच्चों और गर्भवती माताओं को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कुपोषण मुक्त करने के लिए कई योजनाएं पहले से ही लागू की जा चुकी है, परंतु इसके बावजूद भी कुपोषण का स्तर हमारे देश में अभी भी अधिक है. हमारे देश में इसके लिए योजनाओं की कोई भी कमी नहीं है, परंतु यह सभी योजनाओं का आपस में तालमेल नहीं बैठ पाता जिसकी वजह से जरूरतमंद लोगों को योजना का लाभ नहीं मिल पाता है. इन्हीं सभी चीजों को मद्देनजर रखते हुए पोषण अभियान सभी जरूरतमंद योजनाओं का आपस में तालमेल बनाने का प्रयास करेगा.
पोषण योजना की गतिविधियों की सूची ?

पोषण अभियान में की जाने वाली सभी प्रकार की गतिविधियों की सूची इस प्रकार दी गई हैं.

  • पोषण रैली
  • एनीमिया शिविर
  • क्षेत्र स्तरीय महासंघ (एएलएफ) बैठकें
  • CBE – समुदाय आधारित घटनाएँ (ICDS)
  • सामुदायिक रेडियो गतिविधियाँ
  • सहकारी / संघ
  • साइकिल रैली
  • दिन-एनआरएलएम एसएचजी मीट
  • डेफाइट डायरिया अभियान (D2)
  • किसान क्लब की बैठक
  • हाट बाज़ार गतिविधियाँ
  • किसानों का त्यौहार
  • घर का दौरा
  • स्थानीय नेता बैठक
  • नुक्कड नाटक / लोक कार्यक्रम
  • पंचायत की बैठक
  • पोषण मेला (रैली)
  • प्रभात फेरी
  • शौचालयों को पानी उपलब्ध कराना
  • आंगनबाड़ी केंद्रों में सुरक्षित पेयजल
  • स्कूलों में सुरक्षित पेयजल (गतिविधियाँ)
  • स्वयं सहायता समूह (SHG) बैठकें
  • युवा समूह की बैठक
  • पोषण वॉक (कार्यशाला)

पोषण अभियान 2020 के लिए विषयों की पूरी सूची है –

  • स्तनपान
  • किशोर एड, आहार, विवाह की आयु
  • रक्ताल्पता
  • एंटेनाटल चेकअप
  • ईसीसीई
  • खाद्य दुर्ग और सूक्ष्म पोषक तत्व
  • विकास की निगरानी
  • स्वच्छता, जल, प्रतिरक्षा
  • विकास की निगरानी
  • पोषण (कुल मिलाकर पोषण आहार)

गुजरात सरकार द्वारा पोषण अभियान का आरंभ ?

गुजरात राज्य के सीएम विजय रुपाणी ने प्रधानमंत्री के सपने कुपोषण मुक्त भारत को साकार करने के लिए केंद्र सरकार की योजना को गुजरात में राज्यव्यापी ‘पोषण अभियान’ को आरंभ कर दिया है. 2 साल तक चलने वाला यह अभियान पूरे शहरों कस्बों और गांवों को लाभ पहुंचाएगा. गुजरात सरकार मानव विकास में प्रथम बनने के लिए 23 जनवरी 2020 को कौशल योजना का आरंभ किया और मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने नगद रुपए के पुरस्कारों को प्रदान करने की घोषणा भी की है. यदि आंगनवाड़ी आशा और एएनएम कार्यकर्ता ने इस योजना को आगामी वर्ष कुपोषण से मुक्त कर आती हैं , तो इनको 12000 रूपए तक का आगामी पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *