प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार योजना

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार योजना [Prakritik Urja Puraskar Yojana in hindi]

नवीन और नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय द्वारा एक नई तरह के पुरस्कार की घोषणा की गई है. इस पुरस्कार का नाम “प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार” योजना है. इस पुरस्कार का मुख्य उद्देश्य यह है कि लेखक नवीनीकरण स्त्रोत के क्षेत्र में हिंदी में किताबे लिखें. ज्यादातर पुस्तकें इंग्लिश भाषा में लिखी जाती है, अतः मातृभाषा को बढ़ाने के उद्देश्य से इस पुरस्कार की शुरुआत की गई है. साथ ही अगर पुस्तकें हिन्दी में लिखी जाएगी तो इनके पाठकों की संख्या भी बढ़ेगी और इसे सभी को समझने में आसानी होगी.

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार योजना 1

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार के अंतर्गत मिलने वाले अवार्ड्स –

  1. इस पुरस्कार के अंतर्गत लेखक को को प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी, जिसके अनुसार जिस व्यक्ति की पुस्तक प्रथम स्थान प्राप्त करेगी उन्हें 100000 रुपये उपहार स्वरूप मिलेगा.
  2. जिनका द्वितीय स्थान प्राप्त करेगी उन्हें 60000 रुपये  रुपये उपहार स्वरूप मिलेगा.
  3. और जो तृतीय स्थान प्राप्त करेंगे उन्हें 40000 रुपये का आर्थिक प्रोत्साहन विभाग द्वारा दिया जाएगा.
  4. इस पुरस्कार के अंतर्गत अगर कोई पुस्तक किसी अन्य भाषा का हिंदी रूपांतरण है और उस पुस्तक को अवार्ड के लिए चुना जा रहा है तो उन्हें प्रोत्साहन राशि की आधी राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी जैसे प्रथम स्थान  प्राप्त हुआ हैं तो उन्हे 50 हजार इनाम मे मिलेंगे.

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार के अंतर्गत कौन भाग ले सकता हैं ?

  1. इस योजना के अंतर्गत सरकारी गैरसरकारी किसी भी तरह के लेखक भाग ले सकते हैं.
  2. उन्हीं लेखकों के पुस्तक को इस अवार्ड के अंतर्गत शामिल किया जाएगा जिनकी पुस्तके 2013 से 2017 के बीच में पब्लिश की गई हो, एवं में हिंदी में लिखी गई है अथवा हिन्दी रूपान्तरण हो.
  3. पुस्तक में कम से कम 100 पेज होना जरूरी हैं. तब ही वह मान्य होंगी.
  4. वही व्यक्ति मान्य होगा जिसे नवीन और नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय में लिखने का अधिकार हो.
  5. इस पुरस्कार के लिए मौलिक पुस्तके ही स्वीकार की जाएंगी.

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार पंजीयन की अंतिम तिथि क्या हैं ?

अपनी कृति को पेश करने की अंतिम तिथि 15 दिसम्बर 2019 हैं जिसकी जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर दी गई हैं.

प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार आवेदन प्रक्रिया क्या हैं ?

आवेदन एवं अन्य नियमों के लिए प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार पोर्टल पर जाकर विस्तृत जानकारी देख सकते हैं.

हिन्दी में पुस्तक लिखने हेतु उठाया गया यह कदम सराहनीय हैं. चूंकि इस दिशा में बढ़ना भी बहुत जरूरी हैं. इस योजना के अंतर्गत हिन्दी में लिखी अथवा रूपांतरित की जाने वाली मौलिक पुस्तकों को शामिल किया जाना हैं.

Other links –

2 thoughts on “प्राकृतिक ऊर्जा पुरस्कार योजना”

Leave a Comment