नलकूप बिजली कनेक्शनों पर किसान आसान किस्त योजना यूपी 2020

उत्तर प्रदेश किसान आसान किस्त योजना 2020 (नलकूप बिजली बिल कनेक्शन, सूची, पात्रता, ऑनलाइन फॉर्म सीएससी) (UP Kisan Asan Kist Yojana in hindi)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किसान आसान किश्त योजना शुरू की गई है, इस योजना के अंतर्गत किसानों को नलकूप बिजली कनेक्शनों पर आने वाले बिजली बिल को भरने के लिए आसान किस्तों का प्रावधान सरकार द्वारा लाया गया है. इस योजना के अंतर्गत अगर किसान 31 जनवरी तक अपना सारा बकाया बिजली बिल भर देते हैं तो उन्हें इस बिजली बिल पर लगने वाले ब्याज में छूट मिलेगी.

up-kisan asan-kisht-apply

इस योजना के तहत किसानों को पंजीयन कराने हेतु 1500 रुपए अथवा अपने बकाया बिजली बिल का 5% भरना जरूरी है जिसके लिए सरकार ने 1 फरवरी 2020 से 29 फरवरी 2020 तक का समय निश्चित किया है.  अगर किसान इस समय अंतराल में पंजीयन की राशि जमा कराता है तो वह इस योजना के अंतर्गत शामिल हो सकेगा और इस योजना के अंतर्गत अगर किसान बकाया बिजली बिल भरता है तो उसे बिजली बिल पर लगने वाले ब्याज माफी सरकार की तरफ से दी जाएगी.

बकाया बिजली बिल को भरने हेतु सरकार ने 6 आसान किस्तों का नियम बनाया है जिसके तहत किसान अपना सारा बिजली भुगतान आसानी से कर सकते हैं. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रोत्साहित करना है साथ ही बिजली विभाग पर बढ़ रहे कर्ज को कम करना है.

योजना के अंतर्गत शहरी एवं ग्रामीण किसानों को शामिल किया गया है.  इस योजना के लिए सरकार द्वारा टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1912 और एक सरकारी वेबसाइट भी लांच की गई है जिसके जरिए योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सकती है.  साथ ही इसमें पंजीयन कराकर योजना का लाभ उठाया जा सकता है.

उत्तर प्रदेश किसान आसान किस योजना के अंतर्गत किसानों को 6 किस्तों में अपना पूरा बिल चुकाना है जिसके लिए किसान को एक किस्त के साथ अपना वर्तमान बिल भी भरना होगा अगर किसान अपने वर्तमान बिल 2 महीने तक नहीं भरता है तो उसका पंजीयन निरस्त भी हो सकता है और उसे एक डिफाल्टर किसान भी घोषित किया जा सकता है.

  • इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के निवासी किसान जो कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के रहवासी हैं उन्हें शामिल किया गया है.
  • योजना का लाभ उन्हीं किसानों को मिलेगा जो कि नियमित रूप से बिजली भुगतान करते थे अर्थात वे अभी तक डिफाल्टर किसान घोषित नहीं किए गए हैं.
  • इस योजना में पंजीयन कराने के लिए किसानों को एक एफिडेविट बनाना भी आवश्यक है जिसमें यह लिखा होगा कि किसान निर्धारित समयावधि में सारे बिलों का भुगतान कर देंगे.
  • योजना के अंतर्गत बिजली बिल वसूली नोटिस भी लगाना जरूरी है जोकि विद्युत विभाग द्वारा किसानों को भेजे गए.

इस योजना के पंजीयन के लिए किसान नजदीकी लोक सेवा केंद्र एवं आदिवासी अभियंता कार्यालय में जाकर पंजीयन करवा सकते हैं और सारी जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर  1912 पर कॉल करके हल प्राप्त कर सकते हैं. योजना के अंतर्गत पंजीयन प्रक्रिया काफी आसान है जिसे पूरा कर किसान अगर 1 वर्ष के अंदर बिजली बिल का भुगतान करते हैं तो उन्हें बिजली बिल पर लगने वाले ब्याज से राहत मिलेगी.  यह एक बहुत ही अच्छी और उम्दा योजना है जो कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में शुरू की गई है इसका लाभ समय पर ले.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *