कर दाताओं के लिए विवाद से विश्वास योजना 2020

विवाद से विश्वास योजना (Vivad Se Vishwas Scheme Details in Hindi)

करदाताओं के आयकर से जुड़े कई सारे विवाद आय दिन सामने आते रहते हैं. और पिछले कई सालों से करदाताओं के कई मुकदमे फोरमों में दर्ज हैं जिसका अभी तक कोई भी समाधान नहीं निकल पाया हैं. किन्तु अब इस साल के आम बजट में वित्त मंत्री जी ने एक योजना की घोषणा की हैं जिसका नाम ‘विवाद से विश्वास योजना’ है. इस योजना के तहत करदाताओं का प्रत्यक्ष कर से सम्बंधित कोई भी विवाद जोकि फोरम में लम्बे समय से चल रहा है, उसे वे अब एक सीमित अवधि में बिना किसी ब्याज एवं पेनाल्टी का भुगतान करे चूका सकते हैं.

जी हां करदाताओं को यह छूट दी जा रही हैं कि यदि वे अपने पुराने सभी विवादित प्रत्यक्ष करों को 31 मार्च 2020 तक चूका देते हैं, तो उन्हें इसके लिए कोई भी ब्याज एवं पेनाल्टी नहीं देनी होगी. किन्तु यदि किसी कारण से वे 31 मार्च तक कर का भुगतान नहीं कर पाते हैं तो उन्हें इसके बाद 30 जून तक का समय और दिया जायेगा, लेकिन 31 मार्च के बाद 30 जून तक उन्हें अपने विवादित प्रत्यक्ष कर के साथ ही 10 % अतिरिक्त चार्ज भी देना होगा.

इसके साथ ही इसमें यह भी कहा गया है कि यदि किसी करदाता का विवाद उसके प्रत्यक्ष कर को लेकर नहीं बल्कि ब्याज या पेनाल्टी को लेकर हैं, तो उन्हें 31 मार्च तक पेनाल्टी या ब्याज का केवल 25 % ही देना होगा. और 31 मार्च तक यदि वे यह ब्याज या पेनाल्टी को नहीं चूकाते हैं, तो इसके बाद उन्हें 31 मार्च से 30 जून तक के बीच में ब्याज या पेनाल्टी का 30 % देना होगा.

इसका मतलब यह हैं कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए करदाताओं को 31 मार्च या अधिक से अधिक 30 जून तक का समय ही दिया गया है. इसके बाद इस योजना का लाभ किसी भी करदाता को प्राप्त नहीं हो सकेगा.  

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य सरकार का यह है कि लंबे समय से चले आ रहे आयकर से संबंधित मामलों को सुलझाया जाए, जोकि विभिन्न अपीलीय मंचों जैसे आयुक्त, आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण (आईटीएटी), उच्च न्यायालय और सुप्रीम कोर्ट आदि में दर्ज है.

आपको बता दें कि इन फोरमों में 4.8 लाख से भी अधिक प्रत्यक्ष कर को लेकर करदाताओं के केस दर्ज हैं, जिनका कोई भी समाधान नहीं निकल पा रहा था, अब इस योजना के माध्यम से ये सभी केस सुलझ जायेंगे और लंबे समय से चले आ रहे हैं इस तरह के मामले में कमी आयेगी. इसके अलावा इस योजना का सबसे बड़ा फायदा यह भी होगा कि इससे करदाताओं एवं प्रशासन के बीच विशवास बढ़ेगा, और करदाताओं को राहत मिलेगी.

इस योजना का लाभ किस तरह से लाभार्थी करदाताओं को मिलेगा इसकी जानकारी के लिए आपको कुछ समय का इन्तजार करना होगा, क्योकि जल्द ही इस योजना को पूरी जानकारी के साथ पेश किया जायेगा. तब तक आप हमारे इस लेख के साथ जुड़े रहिये, और इसके अपडेट होने का इन्तजार करिये.   

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *